Tags

1 मिलियन bs6 टू व्हीलर बेचने वाली पहली कंपनी बनी Honda 22 अगस्त तक करे आवेदन 2020 से 2030 तक इतने बच्चे हो सकते हैं इस बीमारी के शिकार BANK NEWS : बैंकों के ब्याज दरों में आ रही तेजी से गिरावट chhattisgarh job chhattisgarh sbi job CM योगी ने रद्द किया अयोध्या दौरा Eligibility Exam Dates (Declared) GATE 2021: Application Indian premier league 2020 UAI IPL 2020 आईपीएल 2020 2020 match IPL 2020 Mirzapur 2 download Mirzapur 2 kaise download Karen Mirzapur 2 full video Mirzapur 2 Mirzapur 2 full HD video Mirzapur 2 full download Mirzapur season 2 Neet news: सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और मेडिकल विभाग से मांगा जवाब NEET SS 2020 : Neet ss आवेदन की प्रक्रिया शुरू New Education Policy 2020 : cgbse बोर्ड ने बताया कि इस साल की बोर्ड परीक्षा दो बार होगी PUBG सहित और अन्य 275 एप्स पर बैन लगा रही है भारत सरकार जारी करने वाली है लिस्ट questions SBI Bharti 2020 SBI Bharti 2021 sbi Engineer (Fire) vacancy 2020 UP की कैबिनेट की मंत्री कमल रानी वरुण का कोरोना संक्रमण से निधन WHO का अनुमान अक्टूबर तक करें आवेदन आप पैरामेडिकल मे अपना करियर चाहते हो आवेदन कि अतिंम दिन 23.अगस्त उसके लिए पैरामेडिकल की पुरी जानकारी कुछ को मिली मंजुरी कॉन्स्टेबल के लिए निकला बंपर वैकेंसी चीन के ऐप के खिलाफ सरकार की एक और कार्रवाई छत्तीसगढ़ का मौसम बदला भारी बारिश की आशंका जल्द करें आवेदन जल्द जाने पुरी जानकारी डोनाल्ड ट्रंप ने फिर से कहा hydroxychloroquine हैं covid 19 की मददगार दवा तीन युवतियों सहित 12 लोग गिरफ्तार पश्चिम रेलवे ने निकाली वेकेंसी बडा ऐलान: CM योगी ने पूर्व सैनिको की बेटियों की शादी के लिए सरकार बडा तोफह बीजापुर मे नर्स भाजपा नेता के फार्म हाउस में सेक्स रैकेट का भांडाफोड़ भारतीय वायु सेना की ताकत बढ़ाने आ रहा है राफेल भारतीय स्टेट बैंक ने 3850 पदो के लिए निकाली भर्ती रिसर्च ट्रेनी के पदो के लिए वेकेंसी लैब टेक्नीशियम सहित काई पदो पर निकली वेकेंसी संजय दत्त जेल में हुई इस लडकी के दीवाने गये थे जाने वो कौन है
February 19, 2021

जन्माष्टमी हम क्यो बनाते हैं? और इसकी पुरी सच्चाई जाने आज

Table of Contents

कृष्ण जन्माष्टमी (जिसे जन्माष्टमी या गोकुलाष्टमी के नाम से भी जाना जाता है) एक वार्षिक हिंदू त्योहार है, जो विष्णु के आठवें अवतार, कृष्ण के जन्म को मनाता है। यह हिंदू चंद्र कैलेंडर के अनुसार मनाया जाता है,

श्रावण या भाद्रपद में कृष्ण पक्ष (अष्टमी) के आठवें दिन (काला पखवाड़ा) पर निर्भर करता है कि कैलेंडर माह के अंतिम दिन के रूप में अमावस्या या पूर्णिमा का दिन चुनता है या नहीं। ), जो ग्रेगोरियन कैलेंडर के अगस्त या सितंबर के साथ ओवरलैप होता है।

यह एक महत्वपूर्ण त्योहार है, विशेष रूप से हिंदू धर्म की वैष्णववाद परंपरा में। भागवत पुराण (जैसे रास लीला या कृष्ण लीला) के अनुसार कृष्ण के जीवन के नृत्य-नाटक अधिनियम, मध्यरात्रि के दौरान भक्ति गायन जब कृष्ण का जन्म, उपवास (उपवास), एक रात्रि जागरण (रत्रि जागरण), और एक त्योहार (महोत्सव) अगले दिन जन्माष्टमी समारोह का एक हिस्सा है।

यह विशेष रूप से मथुरा और वृंदावन में मनाया जाता है, प्रमुख वैष्णव और गैर-संप्रदाय समुदायों के साथ मणिपुर, असम, बिहार, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और भारत के अन्य सभी राज्य

जन्माष्टमी को 2020 मे 11 अगस्त को बनाया जा रहा है । और 2021 मे जन्माष्टमी को 30 अगस्त को बहुत खुशी से बनाया जायेगा।

जन्माष्टमी एक ऐसा पर्व हैं जिससे बच्चों से लेकर सभी लोग उत्साह पूर्वक देखते है और सभी लोग मस्ती के इस पर्व को बनाते है । जन्माष्टमी को हिन्दूओ का सबसे अच्छा पर्व माना जाता है।

जन्माष्टमी का इतिहास और महत्व :  जन्माष्टमी को श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है।

श्रीकृष्ण को भगवान विष्णु का अवतार माना जाता है। इनका जन्म देवकी और वासुदेव के पुत्र के रूप में मथुरा में हुआ था|

उन्होंने मथुरावासियों को निर्दयी कंस के शासन से मुक्ति दिलाई इतना ही नहीं महाभारत के युद्ध में पांडवों को जीत दिलाने में भी अहम भूमिका निभाई थी ।

जन्माष्टमी एक ऐसा त्योहार है जिसे लोग पूरे उत्साह के साथ मनाते है। इस पवित्र दिन में भक्त मंदिरों में भगवान से प्रार्थना कर उन्हें भोग लगाते है। इस दिन लोग अपने घरों में बालगोपाल को दूध,शहद,पानी से अभिषेक कर नए वस्त्र पहनाते है।

जन्माष्टमी क्यों मानाई जाती है?

पौराणिक ग्रथों के अनुसार भगवान विष्णु ने इस धरती को पापियों के जुल्मों से मुक्त कराने के लिए भगवान श्री कृष्ण के रूप में अवतार लिए था।

श्रीकृष्ण ने माता देवकी की कोख से इस धरती पर अत्याचारी मामा कंस का वध करने के लिए मथुरा में अवतार लिया था इनका पालन पोषण माता यशोदा ने किया। श्रीकृष्ण बचपन से ही बहुत नटखट थे उनकी कई सखिंया भी थी।

जन्माष्टमी कैसे मनाई जाती है?

जन्माष्टमी कई जगह अलग-अलग तरीक में मनाई जाती है। कई जगह इस दिन फूलों की होली भी खेली जाती है तथा साथ में रंगों की भी होली खेली जाती है। जन्माष्टमी के पर्व पर झाकियों के रूप में श्रीकृष्ण का मोहक अवतार देखने को मिलते है। मंदिरो को इस दिन काफी सहजता से सजाया जाता है। और कई लोग इस दिन व्रत भी रखते है। जन्माष्टमी के दिन मंदिर में भगवान श्रीकृष्ण को झूला झूलाया जाता है। जन्माष्टमी को मथुरा नगरी में बहुत ही हर्षोल्लास से मानाया जाता है। जोकि श्रीकृष्ण की जन्मनगरी है।

दही हांडी का महत्व-

श्रीकृष्ण को माखन दूध,दही काफी पसन्द था जिसकी  वजह से पूरे गांव का माखन चोरी करके खा जाते थे। एक दिन उन्हें माखन चोरी करने से रोकने के लिए, उनकी मां यशोदा को उन्हें एक खंभे से बांधना पड़ा और इसी वजह से भगवान श्रीकृष्ण का नाम माखन चोर पड़ा।

वृन्दावन में महिलाओं ने मथे हुए माखन की मटकी को ऊंचाई पर लटकाना शुरू कर दिया, जिससे की श्रीकृष्ण का हाथ वहां तक न पहुंच सके, लेकिन नटखट कृष्ण की समझदारी के आगे उनकी ये  योजना भी व्यर्थ साबित हुई,माखन चुराने के लिए श्रीकृष्ण ने अपने दोस्तों के साथ मिल कर योजना बनाई और साथ मिलकर ऊंचाई में लटकाई मटकी से दही और माखन चुरा लिया वही से प्रेरित होकर दही हांडी शुरू हुआ ।

उम्मीद करते हैं, आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा, यदि आपको यह पोस्ट पसंद आया, तो इसे like करे

%d bloggers like this: